वीना पाणि कला केंद्र के द्वारा प्राण प्रतिष्ठान का आयोजन, निकाला गया भव्य कलश यात्रा

नालंदा। बिहार थाना क्षेत्र के महलपर इलाके में वीना पाणी कला केंद्र के द्वारा मां सरस्वती प्रतिमा का धूमधाम से प्राण प्रतिष्ठान किया गया। इस प्राण प्रतिष्ठान के मौके पर महल पर इलाके के सैकड़ों महिलाओं द्वारा कलश यात्रा निकाला गया। कलश यात्रा ने आसपास के क्षेत्रों का भ्रमण किया।

इस मौके पर  प्राण प्रतिष्ठान के आयोजक ने कहा कि महलपर और आसपास स्थानीय लोगों की मदद से इस प्रतिमा का स्थापना किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस इलाके की सुख शांति और समृद्धि के लिए ही इस तरह का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने प्राण प्रतिष्ठान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जब भी लोग किसी देवमूर्ति को घर के मंदिर में लाते हैं तो पूरे विधि विधान से इसकी पूजा की जाती है। इस प्रतिमा में जान डालने की विधि को ही प्राण प्रतिष्ठा कहते हैं। यह मूर्ति को जीवंत करती है जिससे की यह व्यक्ति की विनती को स्वीकार कर सके। प्राण-प्रतिष्ठा की यह परंपरा हमारी सांस्कृतिक मान्यता जुड़ी है कि पूजा मूर्ति की नहीं की जाती, दिव्य सत्ता की, महत् चेतना की, की जाती है। 

सनातन धर्म में प्रारंभ से ही देव मूर्तियां ईश्वर प्राप्ति के साधनों में एक अति महत्वपूर्ण साधन की भूमिका निभाती रही हैं। अपने इष्टदेव की सुंदर सजीली प्रतिमा में भक्त प्रभु का दर्शन करके परमानंद का अनुभव करता है और शनै: शनै: ईश्वरोन्मुख हो जाता है। देवप्रतिमा की पूजा से पहले उनमें प्राण-प्रतिष्ठा करने की पीछे मात्र परंपरा नहीं, परिपूर्ण तत्त्वदर्शन सन्निहित है। इस मौके पर सैकड़ो स्थानीय लोग मौजूद थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ